Raj Bairwa   (© मुसाफ़िर)
1.5k Followers · 18 Following

read more
Joined 30 January 2017


read more
Joined 30 January 2017
24 SEP AT 15:24

कोई व्यक्ति अपनी मूर्खता,
पद की आड़ में छिपा लेता है,
परंतु जाने अनजाने
अपने व्यवहार और बातों में
बता ही देता है

-


12 SEP AT 11:20

रोशनियों के शहर में रहा हमें, अंधेरों का साथ,
कुछ वो भी बढ़ते गए , कुछ हम भी जलते गए...!!

-


7 SEP AT 21:48

उम्रदराज़ ख़्वाहिशें नहीं, लावों का तूफान है,
ज़िन्दगी तेरी मोहब्बत में उलझा हर एक इंसान है...!!

-


2 AUG AT 13:20

" पाखंड "

इस दुनिया को बचाकर क्या करोगे ?
ये सबसे बड़ा पाखंड है ईश्वर का,
तुम्हें अगर बचाना ही है तो,
प्रेम को बचाओ,
उससे शायद बच पाये
हमारी पहचान...!!

-


1 AUG AT 12:19

इश्क़ पर यक़ीन नही उन्हें मगर इश्क़ की कसमें ख़ाते है,
लिखना आता है सिर्फ़ झूठ और औरों को सच बताते है...!!

-


31 JUL AT 20:41

" उड़ते ख़्याल "

वो दिखाना चाहतें है कि वो कलाकार है,
मगर गौर से देखों, सब कुछ सिर्फ़ प्रचार है...!!

-


29 JUL AT 13:02

" हमारे आसपास "

हमारे आसपास घट रही कहानियाँ हम से बहोत कुछ ले जाती है,
जो वक़्त के साथ नयी तरह से वापस हमारे सामने आती है...!!

-


28 JUL AT 15:12

प्रेम को परिभाषाओं में खोजने वालो ने,
केवल प्रेम की देह को पाया है मन को नही...!!

-


27 JUL AT 17:31

" नादां दिल "
मुझें उन चिकनी चुपड़ी बातों से नफ़रत है,
फिर भी देखों तो, इस नादां दिल की कितनी बड़ी बड़ी हसरत है...!!

-


26 JUL AT 12:35

" असली चेहरा "

बुरा वक़्त और अच्छे दोस्त दोनों आपकों
इस दुनिया का असली चेहरा दिखा देते हैं...!!

-


Fetching Raj Bairwa Quotes